केंद्र की सत्ता संभाल रही भारतीय जनता पार्टी आज अपना 38वां स्थापना दिवस मना रही है।

देश के राजनीतिक इतिहास में भारतीय जनता पार्टी ने जब एंट्री की थी तो उस समय शायद ही किसी ने भी सोचा होगा कि एक दिन पार्टी देश के आधे हिस्से में सत्ता संभाल रही होगी। 80 के दशक में जब बीजेपी का गठन हुआ और पार्टी ने एक राजनीतिक पार्टी के तौर पर पहला लोकसभा चुनाव लड़ा तो पार्टी के खाते में महज दो सीटें ही आई थी। इसके बावजूद पार्टी नेताओं ने हिम्मत नहीं हारी।

बीजेपी की पूरी सियासी यात्रा पर एक नजर

बीजेपी के गठन के दौरान बीजेपी के अध्यक्ष बनाए गए अटल बिहार वाजपेयी से लेकर लालकृष्ण आडवाणी और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी ने पार्टी को मजबूत करने की कोशिश की। इसका असर आज पार्टी के स्थिति को देखकर समझा जा सकता है। जहां बीजेपी देश की सत्ता संभाल रही है, वहीं हाल ही में राजनीति तौर पर बेहद अहम माने जाने वाले उत्तर प्रदेश में भी शानदार जीत दर्ज की है। भारतीय जनता पार्टी की पूरी सियासी यात्रा पर एक नजर।

 6 अप्रैल, 1980 में बीजेपी की स्थापना हुई 

- 6 अप्रैल, 1980 को बीजेपी यानी भारतीय जनता पार्टी की स्थापना हुई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया।
- 1980 में हुए सातवें लोकसभा चुनाव में जनता पार्टी ने भारतीय जन संघ के साथ मिलकर 433 सीटों पर चुनाव लड़ा, जिसमें 31 सीटें आई। इतनी कम सीटें आने के पीछे अहम वजह पार्टी में टूट और बीजेपी की स्थापना खास तौर से रहे।

 1984 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने जीती दो सीटें 

- 1984 में हुए 8वें लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी को राष्ट्रीय चुनाव में उतरने का अधिकार मिल गया। इस चुनाव में बीजेपी के खाते में महज दो सीटें आई। 

- 1986 में पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया।


 1990 में लालकृष्ण आडवाणी ने देशभर में शुरू की रथ यात्रा 

- 1989 में 9वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने प्रदर्शन सुधारते हुए 85 सीटों पर जीत दर्ज की। इस बार बीजेपी ने पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के नेतृत्व वाली जनता दल सरकार को समर्थन दिया।

- सितंबर 1990 में लालकृष्ण आडवाणी ने देशभर में रथ यात्रा शुरू की। सोमनाथ से अयोध्या के बीच उनकी ये रथ यात्रा शुरू हुई थी।

- 1991 में वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। इस दौरान 10वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने 120 सीटों पर जीत दर्ज की।

- 1993 में एक बार फिर से लालकृष्ण आडवाणी को पार्टी का अध्यक्ष चुनाव गया। दूसरी बार आडवाणी को ये पद सौंपा गया।

11वें लोकसभा चुनाव में पहली बार बनी बीजेपी की सरकार

- 1996 में 11वें लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 161 सीटें जीती। बीजेपी इस चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी। इस शानदार प्रदर्शन का फायदा पार्टी को हुआ और अटल बिहारी वाजपेयी को देश का प्रधानमंत्री बनाया गया। हालांकि महज 13 दिन ही अटल बिहारी वाजपेयी इस पद पर रहे। बहुमत साबित नहीं कर पानी की वजह से उन्हें पद से हटना पड़ा।

1996 में 13 दिन, 1998 में 13 महीने चली अटल सरकार

- 1998 के 12वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने अपने प्रदर्शन में और सुधार किया। इस बार बीजेपी के खाते में 182 सीटें आई। एक बार फिर से अटल बिहारी वाजपेयी को प्रधानमंत्री चुना गया। इस बार भी दूसरे दलों के गठबंधन से बनी बीजेपी की सरकार महज 13 महीने ही चल सकी।

- इस बीच वरिष्ठ नेता कुशाभाई ठाकरे को पार्टी का अध्यक्ष चुना गया।

1999 में बीजेपी की फिर बनी सरकार ने पूरा किया कार्यकाल

- 1999 के 13वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने एक बार फिर से शानदार प्रदर्शन करते हुए सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी। अटल बिहारी वाजपेयी एक बार फिर से प्रधानमंत्री चुने गए। इस बार उन्होंने अपना कार्यकाल पूरा किया।

- साल 2000 में बंगारु लक्ष्मण को बीजेपी का अध्यक्ष चुना गया। 

- 2001 में के. जना कृष्णमूर्ति पार्टी के अध्यक्ष चुने गए।

- 2002 केंद्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू पार्टी के अध्यक्ष चुने गए।

2004 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली करारी शिकस्त

- 2004 में 14वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा। पार्टी के खाते में महज 138 सीटें ही आई। इस दौरान एक बार फिर से लालकृष्ण आडवाणी को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। आडवाणी तीसरी बार अध्यक्ष बने।

- 2005 में केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए।

- 2008 में बीजेपी ने ने कर्नाटक में सत्ता संभाली। कर्नाटक दक्षिण का पहला राज्य था जहां पहली बार बीजेपी की सरकार बनी।

2009 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हुआ नुकसान

- 2009 के 15वें लोकसभा चुनाव में बीजेपी को और नुकसान हुआ। पार्टी की सीटें पिछले लोकसभा चुनाव से भी घट गई। इस बार के चुनाव में बीजेपी के खाते में 116 सीटें ही आई।

- 2010 केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया।  

- 2013 में राजनाथ सिंह दूसरी बार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए।

2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत

- 2014 के 16वें लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने ऐतिहासिक प्रदर्शन किया। इस बार के चुनाव बीजेपी ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त करते हुए 282 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की। अमित शाह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने गए। पार्टी ने पहली बार जम्मू-कश्मीर में पीडीपी के साथ मिलकर गठबंधन की सरकार बनाई।

अमित शाह की रणनीति का कमाल, यूपी में जीती बीजेपी

- 2016 में बीजेपी ने उत्तर पूर्वी राज्य असम में दस्तक दी। विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने शानदार जीत दर्ज करके पहली बार यहां सरकार बनाई।

- 2017 में उत्तर प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी ने बड़ी कामयाबी दर्ज की। बीजेपी ने यूपी की 403 में से 312 सीटों पर जीत दर्ज की। यूपी में बीजेपी को इतनी बड़ी जीत कभी नहीं मिली थी। योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में यूपी में बीजेपी की सरकार बनी। और आज की दिन तक 21 राज्यो में भाजपा की और सहयोगी दलों की सरकार है, 38 सालो के सफर में बीजेपी सुपर फास्ट रफ्तार से गतिमान है अपनी अगली मंजिल की तरफ। सबसे महत्वपूर्ण बात भाजपा का प्राण वायु उसके समर्पित कार्यकर्ता है,कार्यालय उसका कर्म साधक केंद्र और सेवा समर्पण त्याग,देशप्रेम और कर्म उसके कार्यक्षेत्र है

Add Comment

Posted Comments