सुप्रीम कोर्ट का आदेश :खाली करें सरकारी बंगले पूर्व नेता ,जिस अजित जोगी जि का बयान आया

रायपुर .सुप्रीम कोर्ट का आदेश :खाली करें सरकारी बंगले पूर्व नेता ,जिस अजित जोगी जि का बयान आया है की मेरे घर मे तो 2 वरिष्ठ  विधायक रहते हैं.तथा सुप्रीम कोर्ट के  फैसले की तारीफ कर  हूए ये बातें कही . देश के बाकि हिस्सों मे अदालत के इस आदेश के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी घर छोड़ना होगा. इस समय प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, मुलायम सिंह यादव, मायावती, राजनाथ सिंह, कल्याण सिंह, एनडी तिवारी आदि के पास सरकारी बंगला है. न्यायालय के इस आदेश से इन नेताओं का प्रभावित होना तय है क्योंकि इन लोगों ने अपने सरकारी बंगले में अतिरिक्त निर्माण भी करवा रखे हैं. यह सभी बंगले राजधानी लखनऊ के पॉश इलाके में स्थित हैं.

असल मे ये मामला एक एंजियो के द्वारा दाखिल किये गये पील के अधर पर ये फैसला लिया है जो पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार द्वारा ‘उत्तर प्रदेश मंत्री (वेतन, भत्ते और अन्य प्रावधान) कानून, 1981 में किये गये संशोधन को चुनौती देती हैबातदे कि अजीत जोगी को उनके मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान सागौन बंगला दिया गया था. लेकिन उनके मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद भी उनसे यह बंगला खाली नहीं कराया गया. लेकिन अब जिस तरह से उच्चतम न्यायालय ने उत्तर प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्रियों को कार्यकाल की समाप्ति के बावजूद सरकारी आवास में बने रहने की अनुमति देने वाले कानूनी संशोधन को रद्द कर दिया. इस निर्णय के बाद अजीत जोगी ने सरकारी बंगले में रहने को लेकर अपनी स्थिति स्पष्ट की है.उस निवास में लगातार तीन बार से निर्वाचित वरिष्ठ विधायक डॉ रेणु जोगी व लगातार दो बार से निर्वाचित विधायक अमित जोगी भी निवास करते है

Add Comment

Posted Comments