शी…"/>

मोदी फिर जाएँगे अनोपचारिक मुलाक़ात के लिये चीन 27 - 28 अप्रैल

बीजिंग/नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी 27 और 28 अप्रैल को चीन के दौरे पर रहेंगे। इस दौरान, मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अनौपचारिक शिखर वार्ता होगी। खबर है कि इस बातचीत के बाद न तो किसी एग्रीमेंट पर साइन होंगे और न ही साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की जाएगी। दोनों नेता, द्विपक्षीय संबंधों और वैश्विक मसलों पर बात करेंगे। बता दें कि भारत और चीन के किसी नेता के बीच इस तरह की वार्ता पहले कभी नहीं हुई। इसकी घोषणा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के बीच हुई बैठक के बाद की गई।
 

चीन के उप विदेश मंत्री कोंग शुआनयु ने बताया- "दोनों देश ना ही किसी समझौते पर हस्ताक्षर करेंगे और ना ही कोई दस्तावेज जारी किया जाएगा। सिर्फ गतिरोध वाले मुद्दों को सुलझाने पर बातचीत होगी।दोनों देशों में इसी पर सहमति बनी है।"  इस अनौपचारिक शिखर वार्ता में मोदी और जिनपिंग के अलावा दोनों देशों के खास अधिकारी मौजूद रहेंगे।

चीनी राष्ट्रपति की दुनिया के किसी भी नेता से यह पहली अनौपचारिक शिखर वार्ता बताई जा रही है। दोनों पक्षों के अधिकारी अपने-अपने मीडिया के लिए एक तय फॉरमेट के साथ जानकारी मुहैया कराएंगे। मोदी 2015 में पहली द्विपक्षीय वार्ता में शामिल हुए थे। इसके बाद उन्होंने 2016 में जी-20 समिट में हिस्सा लिया था। 2017 में वे ब्रिक्स समिट में हिस्सा लेने के लिए चीन गए थे।

Add Comment

Posted Comments