स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद कराने के हड़ताल में फायरिंग से 12 लोगों की मौत

तमिलनाडु . तमिलनाडु के तूतीकोरिन में स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद कराने के हड़ताल उग्र हो गयी  जिसके बचाव कार्य में पुलिस वालों ने फायरिंग कर दी , फायरिंग से  12   लोगों की मौत हो गयी पुलिस सूत्रों ने बताया कि करीब 20 हजार प्रदर्शनकारी स्टरलाइट कॉपर यूनिट की तरफ बढ़ने लगे, लेकिन पुलिस द्वारा रोके जाने पर प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया और पुलिस के वाहनों को पलट दिया. प्रदर्शनकारियों ने सरकारी वाहनों को आग के हवाले भी कर दिया और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया. इसके बाद पुलिस की कार्रवाई में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि करीब दो दर्जन लोग घायल हो गए. इस घटना के बाद से पूरे इलाके में तनाव का माहौल है.

असल में मामला है की पिछले एक महीने से वेदांता की स्टरलाइट कॉपर यूनिट को बंद करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर  रहे थे. लेकिन कल प्रदर्शन कारियों ने हिंसक मार्ग  अपना लिये .इस पुरे मामले में सफाई   देते हूए मुख्यमंत्री ने कहा , 'पुलिस को लोगों के जान-माल की रक्षा के लिए अपरिहार्य परिस्थितियों में कार्रवाई करनी पड़ी, क्योंकि प्रदर्शनकारी बार-बार हिंसा कर रहे थे. पुलिस को हिंसा रोकनी थी.' उन्होंने कहा, 'मुझे यह जानकार दुख हुआ कि इस घटना में दुर्भाग्यवश कई लोग मारे गए.' और आदेश दिया की  हिंसा में जान गंवाने वालों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को तीन-तीन लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है. साथ ही पुलिस कार्रवाई में मारे गए लोगों के परिवार के एक-एक सदस्य को योग्यता के अनुसार नौकरी देने का भी आश्वासन दिया है.वहीं, पुलिस का कहना है कि मद्रास हाईकोर्ट के आदेश पर स्टरलाइट कॉपर यूनिट को सुरक्षा प्रदान करने के लिए क्षेत्र में धारा 144 लागू की गई थी.

इस पर राहुल गाँधी का बयान आया की 'तमिलनाडु में स्टरलाइट विरोधी प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लोगों को मार दिया. यह सरकार प्रायोजित आतंकवाद की बर्बर मिसाल है.'ये उनके ट्वीटर पर कहा गया.

Add Comment

Posted Comments