आज है मां चंद्रघंटा का दिन, पढ़ें पूजा विधि और देखें मां की आरती

आज है मां चंद्रघंटा का दिन, पढ़ें पूजा विधि और देखें मां की आरती

आज है मां चंद्रघंटा का दिन, पढ़ें पूजा विधि और देखें मां की आरती

ऐसा है मां का स्वरुप: शक्ति के तीसरे स्वरुप का नाम चंद्रघंटा। इनके मस्तक में घंटे के आकार का अर्धचंद्र है, इसीलिए इन्हें चंद्रघंटा कहा जाता है। मां चंद्रघंटा सिंह पर विराजती हैं। मां चंद्रघंटा देवी का स्वरूप सोने के समान कांतिवान है। देवी मां की दस भुजाएं हैं और दसों हाथों में खड्ग, बाण है। मां चंद्रघंटा के गले में सफेद फूलों की माला रहती है।  

मंत्र:  पिण्डजप्रवरारूढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता।
     प्रसादं तनुते मह्यं चंद्रघण्टेति विश्रुता।।

सरल मंत्र.. ऊं एं ह्रीं क्लीं

आज है मां चंद्रघंटा का दिन, पढ़ें पूजा विधि और देखें मां की आरती

कैसे रंग के कपड़े पहनें औऱ क्या चढ़ाएं प्रसाद: देवी चंद्रघंटा को प्रसन्न करने के लिए श्रद्धालुओं को भूरे रंग के कपड़े पहनने चाहिए। मां चंद्रघंटा को अपना वाहन सिंह बहुत प्रिय है और इसीलिए गोल्डन रंग के कपड़े पहनना भी शुभ है। इसके अलावा मां सफेद चीज का भोग जैसै दूध या खीर का भोग लगाना चाहिए। इसके अलावा माता चंद्रघंटा को शहद का भोग भी लगाया जाता है।

आज है मां चंद्रघंटा का दिन, पढ़ें पूजा विधि और देखें मां की आरती

पूजा : आज के दिन श्रीदुर्गा सप्तशती का पांचवा अध्याय पढ़ें। मां चंद्रघंटा का पूजन करने से भक्तों की भय, डर और प्रेतबाधाओं से रक्षा होती है। भक्तों को मणिपूरक चक्र में ध्यान लगाकर भगवती की साधना करनी चाहिए। 

मनोकामना: मनुष्य मन, वचन और कर्म से परिशुद्ध और पवित्र रहता है। निर्धन को धन और संतानहीनों को संतान की प्राप्ति होती है।

Add Comment

Posted Comments