आज जोधपुर के उचन्यायलय मे आशाराम बापू का केस की सुनवाई का अहम् फैसला आ चूका है जिसमे पीडिता के हक़…"/>

आशाराम बापू के केस का फैसला : पीडिता का परिवार खुश ,समर्थक दुखी

आज जोधपुर के उचन्यायलय मे आशाराम बापू का केस की सुनवाई का अहम् फैसला आ चूका है जिसमे पीडिता के हक़ मे फैसला सुनवाया गया है .इस फैसले से जहाना पीडिता के माता पिता खुश है वहीँ आशाराम बापू के कुछ समर्थक न खुश हैं | जिस के मद्देनज़र अदालत तथा रस्ते मे नाक-बंदी की गयी है|

आशाराम राम बापू के केस मे अब तक :

चर्चित संत रहे आसाराम को बड़ा झटका लगा है। जोधपुर की विशेष अदालत ने बुधवार को एक रेप केस में उन्हें दोषी ठहराया। फर्श से अर्श तक तक पहुंचने वाले आसाराम पर उनके आश्रम में आने वाली लड़कियों ने ही रेप के आरोप लगाए थे। इस वजह से आसाराम के साथ-साथ उनके बेटे नारायण साईं भी जेल गए। आसाराम 2013 से जेल में हैं, तब से लेकर अब तक केस में काफी कुछ हुआ है।

 

मौजूद हैं 400 से ज्यादा आश्रम 
आसाराम के करीब 400 आश्रम हैं, जिसमें से कुछ विदेश में भी हैं। आसाराम ने लगभग हर राज्य में अपना एक आश्रम बनाया हुआ है। कहीं-कहीं पर संख्या ज्यादा भी है। हालांकि, केरल, तमिलनाडु और नॉर्थ ईस्ट के राज्यों में उनकी पहुंच नहीं है। कई जगहों से ऐसी खबरें भी आई हैं कि उन्होंने कब्जेवाली जमीन पर आश्रम खड़ा कर दिया था। 2010 में ऐसी भी खबरें आई थीं कि गुजरात के अहमदाबाद में उनके आश्रम से सरकार ने 67 हजार वर्ग मीटर के करीब जगह वापस भी ले ली थी। 

राजनेताओं के बीच भी पैठ 
देश की दोनों बड़ी पार्टी (कांग्रेस और बीजेपी) से आसाराम के संबंध अच्छे रहे। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, सीनियर नेता लाल कृष्ण आडवाणी के साथ-साथ नितिन गडकरी, उमा भारती, शिवराज सिंह चौहान, रमन सिंह और प्रेम कुमार धूमल उन्हें मानते थे। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, मोतीलाल वोरा भी आसाराम के नजदीकियों में शामिल रहे। 

क्या हैं जोधपुर मामला 
साल 2013 में शाहजहांपुर की 16 साल की लड़की ने आसाराम पर उनके जोधपुर आश्रम में बलात्कार करने का आरोप लगाया था। दिल्ली के कमला मार्केट थाने में यह मामला दर्ज कराया गया था, जिसे बाद में जोधपुर स्थानांतरित कर दिया गया। 

गुजरात डबल रेप मामला 
आसाराम को जोधपुर केस में गिरफ्तार कर लिया गया था, उसके दो महीने बाद ही गुजरात के सूरत की दो बहनों ने आसाराम और उनके बेटे पर बलात्कार का आरोप लगाया था। बड़ी बहन की शिकायत के मुताबिक, आसाराम ने 2001 से 2006 के बीच कई बार उनका यौन शोषण किया था, छोटी बहन ने नारायण साईं पर रेप का आरोप लगाया था। इसके बाद दिसंबर 2013 में नारायण साईं को भी गिरफ्तार किया गया था। 

 

जानें धाराओं को 
-आसाराम पर धारा 342 बंधक बनाने के बाबद लगी है जिसमे एक साल की सजा का प्रावधान है. 
-धारा 376, बलात्कार के लिए लगी है जिसमे उम्रकैद की सजा का नियम है.  
-354-ए, महिला का शील भंग करने करने के लिए लगाई गई है. इसमें भी अधिकतम 10 साल की सजा का प्रावधान है. 
- 506, चमकाने और धमकाने के लिए लगाई गई है.  
-509/34 महिला की मर्यादा का अपमान करना जिसमे तीन साल की सजा का प्रावधान.  
-पाक्सो एक्ट के तहत नाबालिग से दुराचार और इस मामले में 10  साल की सजा का नियम फ़िलहाल है. 


मामला में अब तक 
- 1660 दिन अब तक आसाराम जेल में बिता चुके हैं
- 1470 दिनों तक चला मामले का ट्रायल 
- 12 बार अदालतों से उनकी जमानत याचिका को खारिज किया 
- 30 से ज्यादा नामी वकीलों ने आसाराम के लिए पैरवी की जिनमे राम जेठमलानी, सलमान खुर्शीद, मुकुल रोहतगी, सोली सोराबजी और केटीएस तुलसी जैसे नाम शामिल.

Add Comment

Posted Comments