कर्नाटका चुनाव : कांग्रेस अपने विधायकों की खरीद फरोख्त को रोकने के लिये हैदराबाद रवाना किया

कर्नाटका  . कर्नाटका  चुनाव मे येदुरप्पा के मुख्यमंत्री बनाने के बाद भी राजनीती जारी हैं कांग्रेस ने अपने विधायकों को बीजेपी से जा कर मिलते हूए देखा गया है .कांग्रेस और जेडीएस पहले ही सुप्रीम कोर्ट के फैसले से परेशान है जिसके तहत येदुरप्पा को 15 दिन की मौहलत द रखी है  बहुमत सिद्ध करने के लिये .कांग्रेस का मानना है कि वरिष्ठ नेता पार्टी के प्रति वफादारी दिखाएंगे. रामलिंगा रेड्डी, शमनुर शिवशंकरप्पा सहित कई वरिष्ठ कांग्रेस विधायक अपने घर पर हैं. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस विधायकों के साथ ही हैदराबाद जा रहे जेडीएस विधायकों की बस भी करनूल से आगे निकल गई है.कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पार्टी के दो लापता विधायकों राजशेखर पाटिल और प्रताप गौड़ा पाटिल ने पार्टी के शीर्ष नेताओं से संपर्क किया है. कांग्रेस नेताओं ने दावा किया है कि मैसूर क्षेत्र के कुछ बीजेपी विधायक उनके संपर्क में हैं.मंगलवार तक कांग्रेस के विधायक बेंगलुरु के ईगलटन रिजॉर्ट में रुके हुए थे, बाद में पार्टी ने इन्हें हैदराबाद भेजने का फैसला किया. एक तरफ कांग्रेस विधायकों ने रिजॉर्ट छोड़ा तो वहीं जेडीएस विधायकों ने भी अपना होटल छोड़ दिया. इससे पहले मंगलवार को दिन में कर्नाटक में मौजूद सीनियर कांग्रेस नेताओं गुलाम नबी आजाद, अशोक गहलोत ने जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी के साथ ईगलटन रिजॉर्ट में लंबी मीटिंग की. बैठक में पूर्व सीएम और कांग्रेसी नेता सिद्धारमैया भी मौजूद रहे. जेडीएस के नेता कुमारस्वामी ने कहा कि विधायकों की खरीद फरोख्त को रोकने के लिए हम विधायकों को बेंगलुरु से बाहर भेज रहे हैं. जेडीएस और कांग्रेस के विधायक एक ही जगह साथ रहेंगे.कांग्रेस को उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट बहुमत साबित करने के समय को घटाएगा, इसलिए वह रिजॉर्ट छोड़ रहे हैं. अब वह सीधे वोट डालने के लिए ही आएंगे.

 

Add Comment

Posted Comments