कर्नाटका चुनाव : एक और येदुरप्पा की कोर्ट मे पेशी ,तो दूसरी और कांग्रेस का 'लोकतंत्र बचाओ दिवस'

नई दिल्ली . आज नई दिल्ली मे सुप्रीम कोर्ट   मे कर्नाटका के नये मुख्यमंत्री येदुरप्पा के केस की सुनवाई है . जिसके लिये येदुरप्पा  को 10:३० बजे  कोर्ट मे पेश होना है .सुप्रीम कोर्ट के तीन जजों की पीठ उस याचिका पर आज फिर से सुनवाई शुरू करेगी, जिसमें कांग्रेस और जेडी-एस ने राज्यपाल वजुभाई वाला द्वारा येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्योता दिए जाने को चुनौती दी है. कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने पहले बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया था, जिसके बाद इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट चली गई. शीर्ष कोर्ट आज इसी याचिका पर फिर सुनवाई शुरू करेगी.कर्नाटक में 222 सीटों पर चुनाव हुए थे, जिसमें से भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडी-एस को 38 सीटें मिली थीं. दो निर्दलीय विधायकों में से एक ने भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की थी, लेकिन उसे गुरुवार को विधानसभा के सामने गांधी की प्रतिमा के सामने कांग्रेस और जेडी-एस के धरने में शामिल देखा गया.धरने में पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी. देवगौड़ा भी शामिल हुए. इस तरह कर्नाटक के नाटक का पटाक्षेप जल्द होने के आसार नहीं हैं.

ये बात तो हुई बीजेपी की पर आज ही कांग्रेस लोकतंत्र बचाओ दिवस भी मनाने वाली है .रने के माध्यम से नरेंद्र मोदी और अमित शाह की सत्ता की हवस और प्रजातंत्र के खिलाफ संविधान की मान्यताओं को ठुकराने की उनकी कोशिशों का पर्दाफाश किया जाएगा.कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के पास बहुमत था, उसके बावजूद बीजेपी को बुलावा देना प्रजातंत्र के नीचे गिराना है और उसकी हत्या करने जैसा है.सुरजेवाला ने मांग रखी कि अगर एकल बड़ी पार्टी को पहले बुलाना है तो गोवा, बिहार और मेघालय में भी एकल बड़ी पार्टी को सरकार बनाने के लिए बुलाना चाहिए था. इन राज्यों में भी अन्य पार्टियों को सरकार बनाने का न्योता दिया जाना चाहिए था. इनको बहुमत साबित करने के लिए कहना चाहिए था. उन्होंने मांग की कि एक देश, एक कानून, एक परिपाटी होनी चाहिए, दो नहीं.

Add Comment

Posted Comments